Google Adsense से कितना Earning कर सकते है

google adsense se kitna kma skte hai

Google Adsense से कितना हम earning कर सकते है और अच्छी earnings के लिए क्या करे? इसके बारे में हम इस पोस्ट में बात करने वाले है. क्यों की हर कोई ब्लॉगर अपने वेबसाइट से पैसे कमाना चाहता हैं पर शुरुवात मे सबको पता नहीं होता की कोनसा ad network बेस्ट हैं. और आजकल जो ब्लॉगिंग के क्षेत्र मे हैं और जो नया ब्लॉगर हैं उसके लिए शरू मे पसंद Adsense ही होती हैं.

ये आर्टिकल हमने मार्केटिंग करने के लिए नहीं बनाया हैं, बल्कि ये पोस्ट उस Adsense से जुड़े हुए questions के लिए है जिसको हर कोई जानना चाहता है.

कुछ दिन पहले मेरा दोस्त पूछ रहा था की मुझे एक ब्लॉग ओपन करना हैं और इसके लिए कोनसा ad network ज्यादा पे करेगा. यही सोच कर मेरे मन में ये बात आयी की क्यों ना ऐसा आर्टिकल बनाये जिससे शुरुवाती ब्लॉगर्स को यह पता लगे की Adsense से अपने ब्लॉग के द्वारा मिनिमम कितना earn कर सकते है. उसी सवाल को ध्यान में रखते हुए, मै इस ब्लॉग पोस्ट को लिख रहा हूँ.

google adsense se kitna kma skte hai

Can I earn from Blogger.com

सबसे पहला सवाल जो लोगो के मन मे आता हैँ वो यह हैं की, क्या हम Blogspot platform से earn कर सकते है?

देखो अगर आपने अपना ब्लॉग professionally design कर रखा है और आपका ब्लॉग visually बहुत अच्छा दिख रहा है. आपके सभी पोस्ट ओरिजिनल और हाई क्वालिटी के है. और आप BlogSpot platform उपयोग कर रहे है तो इसमें कुछ भी प्रॉब्लम नहीं है. क्यों की एडसेंस, ब्लॉगर पर बने वेबसाइट को जलदी मोनेटाइज के देता है और मेरे खयाल से जल्दी monetization का मतलब है की आपकी google adsense earnings भी जल्दी स्टार्ट होगी।

इसके लिए मै आपको recommend करूँगा की आप एक custom domain को purchase करे और उसके बाद Adsesne के लिए apply करे.

AdSense से कितना earning कर सकते है ?

यह एक ऐसा सवाल हैँ जो हर bloggers के मन मे आता हैं. मैंने ज़ब शुरू किया था तब मेरे मन मे भी कही ऐसे सवाल आते थे. तो इस विषय मे ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं हैं. मै जितना जनता हु उसमे मुझे जितना पता हैं वो यह है की कही लोग एडसेंस से $50 से $1000 दिन मे कमा लेते हैं और कुछ को जो नए ब्लॉगर्स हैं उन्हें कमाने मे ज्यादा समय लगता हैं.

Adsense से हर महीने कुछ लोग thousands of dollars तक कमाते है ये बात तो सच हैं. लेकिन मै इस बात को भी मानता की हूँ की मैंने कभी भी इस तरह के पैसे Adsense से नहीं कमाये है. तो मैं आपको यही कहूंगा की ज्यादा उम्मीद भी नहीं रखनी हैं की आप अच्छे पोस्ट डालोगे तो झटसे आप इतना earn कर लोगे.

आपको बस अपना काम पुरे मेहनत और लगन से करना है. high quality कंटेंट यूजर को प्रोवाइड करना है और SEO के ऊपर भी उतना ही ध्यान देना है.

क्यों की मैंने यह देखा की नए ब्लॉगर्स शुरुवात में ही पैसे कमाने के बारे में सोचते रहते है और पोस्ट पब्लिश करते रहते है और इस बात पे ज्यादा ध्यान नहीं देते की वो किस तरह की इनफार्मेशन लोगो को दिखा रहे है. कंटेंट क्या लिख रहे है. नहीं! बस पोस्ट डालते जाओ कभी न कभी तो रैंक करेगी ही. तो ऐसा नहीं है भाइयो. इसमें समय लगता हैं क्यों की यहाँ competition गवर्नमेंट जॉब पाने जैसा ही है।

आप जब कोई पोस्ट डालते हो तो आपने कभी यह सोचा है की उसी तरह के कितने पोस्ट दिन में पब्लिश होते होंगे। इसलिए ब्लॉगिंग क्षेत्र में आपको pensions रखना भी बहोत जरूरी हैं.

क्या मैं Adsense की income guess कर सकता हु?

आप अपने future Google adsense earnings को आसानी से calculate नहीं कर सकते है क्योंकि यह बहोत ही पेचीदा हैं. आपको इस बात का नहीं पता होता है की आपके Adsense के हर एक क्लिक पर कितने पैसे आ रहे हैं और कही पता भी चल जाये तो ये हर बार नहीं होगा। क्यों की यह vary करता हैं की आपके clicks कहा से (geographic locations) आ रहे हैं.

Adsense Earning Increase करने के कॉमन फॅक्टर्स 

बात दरअसल ये है की AdSense इनकम कई factors पर depend करता है. यहाँ पर मैं आपको कुछ common factors बताने वाला हूँ जो आपके AdSense के earnings को increase करने में मदद कर सकता है.

1. आपके ब्लॉग का Niche

AdSense के बेसिक से स्टार्ट करते है. Google AdSense, AdWords के concept पर based है. जहाँ पर advertisers keywords पर bids करते है और उसके बाद Google के ads आप और मेरे जैसे 3rd party websites पर दिखाई देते है.

अब यहाँ पर एक concept high-paying और low-paying niches के बारे में भी आता है. उदाहरण के लिए –

  • health, financial loans अथवा legal niche high CPC (cost per click) niche है.
  • जबकि movies अथवा posters जैसे niche low paying niche है.
  • Technology niche एक moderate AdSense niche है और इसका इनकम हर एक क्लिक के कई फैक्टर पर डिपेंड करता है.

अगर आपको Highest Paying Niche के टॉपिक्स के बारे में जानना है तो निचे की लिंक को देखे –

2. आपका Traffic कहा से आ रहा हैं

AdSense के इनकम में ट्राफिक किस country से आ रही ये बात बहोत important role play करतो है.

इंग्लिश बोलने वाले देशों में गैर-अंग्रेजी बोलने वाले देशों की तुलना में CPM (कॉस्ट पर मंथ) की दर अधिक होती है। इसके अलावा, Average CPM देश में लोगों की खर्च करने की शक्ति पर भी निर्भर करता है.

जैसे की कोई advertiser हर click पर ज्यादा पैसे की bid लगाता हैं और वोह ad अगर आपके वेबसाइट पर दिख जाए और कोई उस पर क्लिक करे तो आपको per click ज्यादा पैसे मिलेंगे. इसलिए यह प्रयास करे की आप के targeted visitors इंडिया के बाहर के भी हो.

अब समय के साथ साथ advertisers और स्मार्ट होते जा रहे है और वह long-tail keywords पर ज्यादा bids कर रहे है ताकि उनको बढ़िया conversion मिल सके.

उदाहरण के लिए मान लीजिये की आपके ब्लॉग पर ज्यादा traffic U.S.A या फिर U.K जैसे country से आ रहा है तो आप अपने AdSense ads के हर एक click पर ज्यादा earnings कर सकोगे। क्योकि इन countries में AdSense की CPC (cost per click) ज्यादा होती है.

इसी प्रकार यदि आप अपने ब्लॉग पर एशिया के countries जैसे India और Nepal से traffic पा रहे है तो आपके हर एक Ad के click पर बहुत कम icome होगी क्यो कि इन countries में Adsense की CPC बहुत कम होती है. यही कारण है की हिंदी blogs की Adsense earnings, इंग्लिश लिखने वाले वेबसाइट की तुलना में कम होती है.

उदाहरण के तौर पर मान लो के, अगर एक Hindi blog हैं और एक English blog हैं और इनपर same traffic हैं तो इंग्लिश वाले की earning ज्यादा होगी.

3. Device का प्रकार

भले ही mobile इंटरनेट ने हाल के दिनों में desktop को पीछे छोड़ दिया हो, पर जब CPM दरों की बात आती है, तो  डेस्कटॉप अभी भी अच्छे डॉलर कमा लेते हैं। इसका कारण यह है कि छोटे स्क्रीन का आकार और मोबाइल नेटवर्क की धीमी गति और tablet की गति का desktop की तुलना में low conversion रेट रहता है. तो इसका सीधा प्रभाव google adsense earnings पर भी पड़ता हैं. इसके लिए यह फैक्टर भी आपके लिए महत्वपूर्ण है.

4. Website की Quality

आप के website मे सबकुछ ठीक हैं पर अगर यूजर एक्सपीरियंस अच्छा नहीं हैं और आप user को ज्यादा देर तक engage नहीं कर सकते तो कोई भी ज्यादा टाइम के लिए आपके site पर नहीं रहेंगे और जाहिर सी बात हैं की कम time के लिए रहेगा तो उसको ads देखने के लिए भी टाइम नहीं मिलेगा. इसका अर्थ यह हैं की कम टाइम तो कम clicks और Indirectly low google adsense earnings.

अगर आप के वेबसाइट पर ऐसा हो रहा है तो आप एड्स को ऐसा जगह सेट करे जहा लोगो का ज्यादा ध्यान जाता होगा। इसके लिए आप In-article एड्स यूज भी कर सकते है.

5. Blog की Performance

आपके ब्लॉग की परफॉरमेंस भी आपकी CTR और CPC पर प्रभाव डालती है.

Website Slow होने से आपके Blog के Traffic पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. ब्लॉग की Performance Increase करने के लिए सबसे पहले तो आपको BlueHost, Hostgator जैसी एक अच्छी Hositing Service ढूंढनी चाहिए जिसका सर्वर फ़ास्ट हो. या फिर आप cloud flare जैसे वेबसाइट पर अपना सर्वर भी सेट कर सकते हो.

अपने वेबसाइट की speed fast करने के लिए high quality और Responsive Theme को चुनें। आप किसी cache प्लगीन का भी उपयोग कर सकते है.

एक Fast Website आपके ब्लॉग पर Traffic को बढाता है तथा Load-Time घटाता है. Load-Time कम होने से आपको अधिक CPC प्राप्त होती है |

आप इन सभी factor को आसानी से strategically तरीके से optimized कर सकते है.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकि उनको भी एडसेंस इनकम के इस टर्म के बारे पता चले.

Previous articleBounce Rate क्या है? Blog की rank कैसे बढ़ाये | Bounce rate in hindi
Next articleBlogspot Blog मे Post, Pages, Comments का Backup कैसे ले?
Rushikesh
मुझे ब्लॉगिंग करना अच्छा लगता हैं और इस ब्लॉग को मैंने खास ऐसे लोगो के लिए बनाया हैं जिनसे वो अपना करियर और पैसा दोना कमा सकते हैं.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here