Knowledge और स्मरण शक्ति 10 गुना कैसे बढ़ाये

Increase Knowledge

क्या आप भी अपनी Knowledge और स्मरण शक्ति को Increase कैसे करे यह जानना चाहते है और अपने ब्रेन पावर को बूस्ट करना चाहते है, तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े जिससे आप भी दिमाग की शक्ति को कम समय में ही बढ़ा सकोगे और अपने knowledge के साथ साथ अपनी स्मरण शक्ति को भी Increase कर सकोगे।

अगर हम बात करे आगे बढ़ने की तो इस दौर में यदि आप एक सक्सेसफुल और स्मार्ट Personality के तौर पर खुद को देखना चाहते हैं, आगे बढ़ना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास एक अच्छा करियर होना बहुत जरूरी है जो आप अपनी एजुकेशन के बेस पर हासिल कर लेते हैं। लेकिन केवल एक जॉब के क्राइटेरिया में बंधकर आप स्मार्ट बन सकेंगे यह गारंटी नहीं है।

इसके अलावा जॉब में रहते हुए आपको अगर तेजी से प्रोग्रेस करनी हो तो आपके पास उस फील्ड के संबंधीत knowledge होनी बहोत जरुरी होती हैं। हर तरह की नॉलेज जो आपको औरों से ज्यादा capable और aware साबित कर सकें। इसलिए उम्र कोई भी हो नॉलेज ही आपको आगे बढ़ा सकती है।

क्या आपके साथ ऐसा होता है कि आप किसी चीज को पूरे मन से पढ़ के याद करने की कोशिश करते हो। पर फिर ऐन वक्त पर आप उसे भूल जाते हो। और क्या आप चाहते हो कि आपकी इंटेलिजेंस यानि बुद्धि कई गुना बढ़ जाए तो बस कुछ मिनटों बाद ही आपका ये सपना पूरा होनेवाला है।

यदि आप मेरी दी हुयी इस ट्रिक का हर रोज प्रयास करोगे तो आपका दिमाग एक कंप्यूटर जैसा फास्ट हो जाएगा इसकी मैं आपको गारंटी देता हूँ। मैं आपको कुछ ऐसी ट्रिक्स बताऊंगा जिससे आपकी इंटेलिजेंस और मेमरी कम से कम दस गुना तो बड़ी जाएगी। आप इस आर्टिकल को शुरू से लेकर लास्ट तक पढ़ना क्यों की ये आर्टिकल आपकी जिंदगी पलटने वाला है।

इन तरीको से Knowledge और स्मरण शक्ति 10 गुना बढ़ाये
Increase knowledge and excellence

Knowledge क्या होती हैं 

तो चलिए शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं कि knowledge क्या होती है। जनरल नॉलेज एक सोसाइटी, कल्चर, कम्युनिटी और दुनिया से जुड़ी खास जानकारी होती है। इसका कोई भी फिक्स क्राइटेरिया नहीं होता, बल्कि ये फैमिली, हेल्थ, फैशन, साईंस, आर्ट्स और करंट अफेयर्स से जुड़ी हुयी जानकारी होती है और ये knowledge आपको एक good citizen भी बनाती है। इसके साथ यह आपके पर्सनल ग्रोथ में भी यह आपकी मदद करती है।

Knowledge बढ़ाने के source

नॉलेज क्या है ये जान लेने के बाद अब हम जानते हैं कि वो तरीके जो नॉलेज बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किए जाने चाहिए.

1. Reading Technique

जिसमें पहला है Reading यानी की पढ़ना। अगर आप किसी भी तरह की नॉलेज पाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले रीडिंग हैबिट बनानी होगी जिसे आप रेगुलर फॉलो करें।

ये नॉलेज किसी मुख्य सब्जेक्ट तक सीमित नहीं होती है। बस आपको अपनी पसंद का useful content पढ़ने की आदत डालनी है। इसके लिए आप किताबें पढ़ सकते हैं जिनका दायरा बहुत बड़ा होता है और हर सब्जेक्ट की डीप नॉलेज बुक्स आसानी से दे सकती है यह तो आप जानते ही है।

डेली न्यूजपेपर पढ़कर भी आप करंट अफेयर्स पर अच्छी पकड़ बना सकते हैं और जर्नल पढ़कर की रिसर्च से जुड़ी लेटेस्ट जानकारी पा सकते हैं। सुनने यह काफी बोरिंग लगता है मगर आप यदि रीडिंग हैबिट को अपने जीवन का हिस्सा बना लेते हो आपको कामयाबी पाने से कोई नहीं रोक पायेगा।

इसके अलावा मैगजीन्स पढ़कर भी आप सोशल इश्यूज, फैशन सेंस और वर्ल्ड वाइड नॉलेज आसानी से पा सकते हैं। इसलिए अपनी रीडिंग हैबिट बढ़ाइए और आसानी से नॉलेज बढ़ा लीजिए।

यह जरूर पढ़े

2. Listening Technique

यह नॉलेज बढ़ाने का एक और आसान तरीका लिसनिंग है यानी आप जितने लोगों से मिलेंगे उनके आइडियाज और थॉट सुनेंगे उतनी ही आपकी नॉलेज पर्सपेक्टिव और अंडरस्टैंडिंग बढ़ेगी। इसीलिए लोगों से जुड़िये और हर तरह के टॉपिक पर डिस्कशन कीजिए। अपने विचार लोगो को बताइए और उनके विचारों को सुनिए। ऐसा करने से आपको एक ही टॉपिक के अलग अलग aspects समझ आएंगे और आपकी नॉलेज broad होती जाएगी।

इसके अलावा ऑडियो बुक सुनना भी बहुत अच्छा ऑप्शन है। इसके साथ साथ आप किसी सेमिनार या ग्रुप डिस्कशन का हिस्सा बन करके भी कई टॉपिक्स पर अच्छी knowledge प्राप्त कर सकते हैं ।

3. Accept Technology

तीसरा है टेक्नोलॉजी को अपनाइए। टीवी और इंटरनेट आज केवल एंटरटेनमेंट का सोर्स ही नहीं है बल्कि ये wide नॉलेज भी देते हैं। टीवी पर आने वाले न्यूज चैनल्स और बहुत तरह के एजुकेशनल चैनल से आप आपकी knowledge को बहोत आसानी से बढ़ा सकते हैं और जहां तक इंटरनेट की बात है तो यहां पर आपके लिए नॉलेज का भंडार है। जैसे न्यूज़, स्पोर्ट्स passions, फूड गेम्स और भी बहुत कुछ।

यह जरूर पढ़े

Knowledge और इंटेलिजेंस को कैसे बढ़ाये

तो इन्हीं सारी चीजों के साथ ये तो आपने जान लिया कि knowledge के source क्या क्या होते हैं और अब आपको बताते हैं कि किन तरीकों को आजमा करके आप अपनी लर्निंग capacity को बढ़ा सकते हैं ताकि आप आसानी से ज्यादा नॉलेज गेन करके अपने दिमाग और स्मरण  शक्ति को बढ़ा सके।

बहुत कुछ ये सोचते हैं कि वो जिस इंटेलिजेंस के साथ जन्म लेते हैं उनकी इंटेलिजेंस जिन्दगी भर उतनी ही रहती है। तो दोस्तो ये एक मिथ यानि एक अफवा है। इंटेलिजेंस और मेमोरी को बढ़ाना हंड्रेड परसेंट पॉसिबल है और इसके कई ट्रिक्स हैं जो ज्यादातर लोगों को नहीं पता।

1. ब्रेन को चैलेंजेस दीजिए

सबसे पहला है अपने ब्रेन को चैलेंजेस दीजिए। इसमें अपनी मेमरी को शार्प करने के लिए आप हर रोज अपने ब्रेन को चैलेंज कीजिए। मतलब की हर दिन खुदको एक नए टास्क के लिए challege करें। वो टास्क कुछ भी हो सकता है जैसे कोई डिफिकल्ट टॉपिक को तैयार करना, किसी इन्फॉर्मेशन को याद करना या फिर puzzles को सॉल्व करना।

सुनने में भले आप को ये बहोत ही ईजी टास्क लगते हों लेकिन इन्हें डेली बेस पर करते रहने से आपकी मेमरी इतनी शार्प होती जाएगी कि आपके ब्रेन में इनफॉर्मेशन लंबे टाइम तक स्टोर रहने लगेगी यानि आप भूलना कम कर देंगे और आपकी ब्रेन की कपैसिटी इतनी ज्यादा बढ़ जाएगी कि एक बार पढ़ी सुनी हुई इंफॉर्मेशन भी आपको याद रहने लगेगी। ऐसा होने पर आपको आपकी इंटेलिजेंस बढ़ती हुयी नजर आएगी और यही तो आप चाहते हैं।

2. Meditation करें

इसी के साथ दूसरा पॉइंट है मेडिटेशन। अब आप सोच रहे होंगे कि नॉलेज और मेडिटेशन का क्या रिलेशन है। असल में नॉलेज सोर्सेस की हेल्प से आप वो तो gain कर लेंगे जो आप चाहते हो लेकिन उस knowledge को हैंडल करने के लिए brain का सही तरीके से फंक्शन करना भी जरूरी है और रोज मेडिटेशन करके आप अपनी ब्रेन की प्रोसेसिंग पावर बढ़ा सकते हैं और ब्रेन की प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स को भी आसानी से बढ़ा सकते हैं।

इसके बाद आपको इंटेलिजेंट बनने से कोई नहीं रोक पाएगा । तो सोच कर देखिए आपको यह कैसे करना है ।

3. Exercise (एक्ससाइज कीजिए)

अब आप सोच रहे हैं कि एक्सरसाइज में टाइम बिताने से अच्छा तो यही होगा कि हम अपनी knowledge बढ़ाने के लिए कोई और एक्टिविटी करें। लेकिन शायद आप ये नहीं जानते हैं कि एक्सरसाइज करके या एरोबिक करने से ही आपके ब्रेन को ज्यादा आक्सीजन और ग्लूकोज मिलेगा जिससे आपके ब्रेन की फंक्शनिंग इम्प्रूव होगी और इसके बाद आपको कितने मैजिकल रिजल्ट्स मिलने लगेंगे ये जानने के लिए आप एक्सरसाइज करके खुद ही देखिए।

4. दिमाग को शांत रखे

अपने दिमाग को हमेशा शांत करने की कोशिश करें और आपके मन में जो आवाज गड़बड़ करती रहती है उसे शांत करो। आप ये नोटिस करना कि हमारा दिमाग हमेशा बिजी रहता है। हमारे दिमाग में हमेशा कुछ न कुछ चलते रहता है तो और आपको अपनी इंटेलिजेंस बढ़ाना है तो आपको ये आदत डालनी होगी।

मतलब दिमाग में जो इमेजेस घूमती रहती है उसे रहने दो। पर जो आवाज होती है उसे शांत कर दो। पूरे दिन भर उस आवाज को शांत करने की कोशिश करें। मतलब मन में बात मत करो सिर्फ चीजों को ऑब्ज़र्व करो। इस चीज को 6-7 दिन तक करने के बाद आप भी नोटिस करोगे कि वो अब बंद हो चुकी है। मतलब एक हफ्ते ये करने के बाद आपका दिमाग ऑटोमैटिकली दिन भर शांत रहेगा और फिर देखना आपकी ऑब्जर्वेशन पावर यानी अवलोकन शक्ति काफी बढ़ जाएगी।

उसके बाद आप देखोगे की आप मन में बड़बड़ाने के बदले सिर्फ देखकर ही उस चीज को पूरी तरह से समझ जाओगे। as a whole कहो तो आपकी इंटेलिजेंस बढ़ जाएगी। एक ऐवरेज स्टूडेंट और जीनियस स्टूडेंट में यही अंतर होता है।

जीनियस के दिमाग में वह बड़ बड़ नहीं चलती रहती। इसके चलते उसका दिमाग हमेशा शांत रहता है और जब आपका दिमाग शांत रहेगा तब वह ज्यादा एफिशंटली काम करेगा और किसी भी maths की इक्वेशन या कोई भी चीज आपको इतनी जल्दी समझ आ जाएगी कि आप सोच भी नहीं सकते हो।

इंटेलिजेंस को तो आप ऐसे पढ़ा सकते हो मतलब जो मैंने आपको बताया उसे आप प्रैक्टिस करोगे तो आपकी चीजों को समझने की शक्ति एकाग्रता पूरी तरह से बढ़ जाएगी। आप अपना मैक्सिमम पोटेंशियल यूज कर पाओगे।

स्मरण शक्ति कैसे बढ़ाये

इसके बाद आप ये भी जरूर चाहोगे कि इंटेलिजेंस के साथ साथ आपकी मेमोरी पावर यानि किसी भी चीज को याद करने की शक्ति बढ़ जाए। किसी भी चीज को किसी भी कंटेंट को हम पांच सेंसर्स यानि पांच ज्ञानेन्द्रियों के जरिए याद रख पाते हैं-

1. विजुअल लर्निंग – विजुअल यानी किसी चीज को देखकर याद करने को विजुअल लर्निंग कहते हैं जैसे आपने रोड पर किसी कार को देखा और आपने उस कार को याद रखा। उस कार की इमेज को आपने अपने मन में बैठा दिया तो आपने विजुअल लर्निंग का प्रयोग किया।

2. Auditory Sense – दूसरी ऑडिटरी सेंस यानी किसी आवाज को याद रखना। आप अपने फेवरिट सिंगर के सांग्स तो जरूर सुनते होंगे तो उसकी आवाज आपको याद रहती है। उसे ऑडिटरी लर्निंग कहते हैं।

3. All factory sense – तीसरी है All factory sense। किसी भी परफ्यूम की गंध या जो स्मेल होती है उसे आप अपने नाम के थ्रू याद रखते हैं।

4. Taste – चौथी है टेस्ट। अपने फेवरेट खाने की टेस्ट आपको याद है। तभी तो वो आपका फेवरेट होता है तो वो है टेस्ट की मेमोरी।

5. Feelings – पांचवी है मेमोरी through फीलिंग्स। अगर किसी गरम तवे पर हाथ रखे तो हमे कैसा लगता है वो तो आपको याद ही होगा।

तो यहां पर आप किसी भी चीज को आप देखते हो, किसी सॉन्ग को सुनते हो। और सुनते वक्त आप उसे फील करते हो और फील करते वक्त हम उसे visualize भी करते है, तो ऐसी मेमोरी आपके ब्रेन में जागे स्टोर होती। आपका ब्रेन एक कंप्यूटर जैसा है। और जैसे की आपको पता ही होगा हमारा दिमाग किसी कंप्यूटर से भी तेज होता है.

तो यह पर आपका सवाल ये होगा की अगर हमारा brain कंप्यूटर से ज्यादा तेज है तो हम चीजों को भूल क्यों जाते हैं? ये इसलिए क्योंकि हम किसी चीज को याद करने की जो सही टेक्नीक्स हैं उसे फॉलो नहीं करते। हम टिपिकल क्या करते हैं? हम  हमेशा ही किसी चीज को यद् रखने के लिए उसे रट्टा मारते हैं।

यह जरूर पढ़े

मान लीजिए एक सेंटेंस है जिसे आप याद करना चाहते हो। The Dog Jumped over the fence मतलब उस डॉग ने उस fence के ऊपर से जंप किया। मैं एग्जाम्पल के लिए बस एक ही लाइन ले रहा हूं। पर आप इस टेक्नीक से जितने चाहे उतने लाइन्स को याद रख सकते हो तो अगर आपको इस लाइन को याद करना है तो आप कैसे करोगे?

मेरे ख्याल से आप बार बार ये लाइन बोलोगे की The Dog Jumped over the fence, The Dog Jumped over the fence, The Dog Jumped over the fence। इससे आपकी जो साउंड है आप जो बोल बोल के पढ़ रहे हो उस आडियो को आपका दिमाग स्टोर कर लेगा। पर साइंटिफिक तरीके से ये एक्चुअली एक बहुत ही कमजोर तरीका है किसी भी चीज को याद करने का। क्यों की आप उस चीज को याद करने के लिए अपने पांच ज्ञानेंद्रियों में से सिर्फ एक को यूज करते हैं और वो है ओडियो।

अगर आपको पांच सेंसर्स मिले हैं तो एक सेंस को क्यों यूज करना। आपको कोई आइडिया नहीं है कि अगर आप पांचों सेंस का यूज करके किसी चीज को याद करोगे तो वो आपको कितने सालों तक याद रहेगा।

चीजों को याद रखने का सही तरीका

The Dog Jumped over the fence अगर आपको इस लाइन को याद करना है तो सबसे पहले अपनी इमैजिनेशन यानी कल्पना का इस्तेमाल करो। उस चीज को फील करो। आप सोचो एक कुत्ते के बारे में जो फेंस के ऊपर से जम्प लगा रहा है। मतलब किसी भी सेंटेंस को एक सीन की तरह याद करो और किसी भी चीज को यूनीक बनाओ।

हमारे दिमाग को यूनीक चीजें पसंद यूनिक मतलब औरों से अलग। अगर ये लाइन The Dog Jumped over the fence आपको यद् रखनी है तो इसमें आप एक मूवी जैसे सीन को अपने मन में इमैजिन करो और ऐसा सोचो कि उसमें जो कुत्ता है वो मल्टी कलर्ड है। मतलब लाल पीला हरा नीला सब कलर एक ही कुत्ते में है तो ऐसे अगर आप अजीबो गरीब चीजों को इमेजिन करोगे तो आपको ज्यादा दिन तक याद रहेगा।

इस टेकनीक से आप जो चाहो वो याद तो कर लोगे पर कोई भी चीज़ आपको कितने देर तक याद रहती है और मेन टाइम पर आप उसे रिकॉल कर पाते हो कि नहीं ये आपकी स्टेट ऑफ़ माइंड के ऊपर डिपेंड करता है। मतलब की आपकी मानसिक दशा पर।

आप घर में किसी भी चीज को अच्छे से याद करते हो उसे लिखकर प्रैक्टिस भी करते हो। लेकिन परीक्षा में जब आप जाते हो तब आप उसे ऐन वक्त वक्त पर भूल जाते हो।

यहाँ पर फैक्ट ये है कि उस वक्त ऐसा नहीं होता कि वो चीज आपकी मेमोरी में नहीं है। वह आपकी मेमोरी में तब भी पड़ी रहती है पर आप अपने स्टेट ऑफ माइंड यानी मन की दशा के चलते उसे भूल जाते हैं। आपका एग्जाम का जो डर है वो आपके ऊपर हावी हो जाता है और उसी के चलते आप सब भूल जाते हैं।

यदि आपको अपनी मेमोरी स्ट्रांग करनी है तब आपको अपने स्टेट ऑफ माइंड को रिलैक्स रखना होगा। मतलब एग्जामिनेशन में लिखने से पहले 10-12 बार गहरी साँस ले लेना। मैं जानता हूँ की एग्जाम के टाइम अपने आप को रिलैक्स रखना बहुत मुश्किल है पर ये डीप ब्रीदिंग टेक्नीक बड़ी जबरदस्त काम करती है।

डीप ब्रीदिंग से यानि गहरी सांस लेने से आपके शरीर में ज्यादा ऑक्सीजन पहुँचती है और इसके चलते आपकी ब्रेन की पावर बढ़ जाती है। डीप ब्रीदिंग से आप रिलैक्स हो जाओगे और रिलैक्स होने के चलते आप उस चीज को अच्छे से रिकॉल कर पाओगे। आपको हर चीज एकदम मक्खन की तरह याद आने लगेगी।

99% स्टूडेंट्स ये जो रिकॉल करने की जो कला है उसे नहीं जानते और यहाँ पर जो टेंशन में भी रिलैक्स होना सिख जाये उसे ही हम सुपर स्मार्ट स्टूडेंट कहते है। लेकिन रिलैक्स्ड होना उतना आसान नहीं है और ये सब हर कोई नहीं कर पता। पर मैंने आपको इसका सीक्रेट ट्रिक बता दिया जो है डीप ब्रीदिंग

आप अभी एक काम करो आप इस आर्टिकल को पढ़ते वक्त इसे टेस्ट कर लो। जोर जोर से सांस लो और देखो आपको कैसा feel होता है। आप नोटिस करना कि आप और भी अलाइव यानी और भी जिंदा महसूस करोगे।

इसके साथ अगर आप हेल्दी डाइट और अच्छी नींद को भी फॉलो करने लगेंगे तो यही रिजल्ट्स आपको ज्यादा तेजी से मिलने शुरू हो जाएंगे क्यों की हमारी बॉडी और माइंड एक दूसरे से कनेक्टेड होते हैं और अगर हम गुड स्किल्स और इंटेलिजेंस को पाना चाहते हैं तो बॉडी और माइंड को एक साथ एक्टिव और नरिश करना बहुत जरूरी होता है।

इसीलिए knowledge के साथ साथ दिमाग की स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए आप यूजफुल और इफेक्टिव सोर्सेस की मदद लीजिए और उन ट्रिक्स को फॉलो करे जो मैंने आपको ऊपर बताई है। जिससे आपका माइंड में स्टेबल हो जाए और आपकी इंटेलिजेंस को बढ़ाने में हेल्पफुल हो सके।

अगर आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और यदि आप सोशल मीडिया से कनेक्टेड है तो वहा पर भी लोगो को इस आर्टिकल के बारे में बताये जिससे हर कोई इस तकनीक को यूज करके अपनी नॉलेज और स्मरण शक्ति को बढ़ा सके।

Previous articleFree में Professional Blog कैसे बनाये | पूरी जानकारी
Next articleGoogle Search Engine क्या है और यह कैसे काम करता है
Rushikesh
मुझे ब्लॉगिंग करना अच्छा लगता हैं और इस ब्लॉग को मैंने खास ऐसे लोगो के लिए बनाया हैं जिनसे वो अपना करियर और पैसा दोना कमा सकते हैं.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here