Pagemaker क्या हैं – Features, History, Toolbox [Hindi]

Pagemaker aur uske features

पब्लिशिंग के क्षेत्र में Pagemaker हमेशा से अग्रणी रहा है। पेजमेकर का निर्माण Aldus कंपनी ने किया था परन्तु बाद में इसका अधिग्रहण Adobe Company ने कर लिया तब से इसका डेवलपमेंट तथा विकास एडोबी ही कर रहा है एवं इसके पश्चात पेजमेकर की साख दुनिया में और भी बढ़ गई तथा बड़ी बड़ी पब्लिशिंग कम्पनियों ने इसका बहुतायत में उपयोग करना शुरू कर दिया। पेजमेकर के सातवें संस्करण के बाद यह और भी आधुनिक तथा प्रभावी हो गया तथा इसके माध्यम से पब्लिशिंग करना और भी आसान तथा त्वरित हो गया । पेजमेकर का उपयोग विजिटिंग कार्ड्स, बायो डेटा, किताबें, मैगज़ीन, अखबार, लैटर पैड, पैम्पलेट इत्यादि को डिज़ाइन करने तथा पब्लिश करने में किया जाता है ।

Pagemaker aur uske features

Pagemaker के Features

पेजमेकर का सबसे नवीनतम संस्करण 7.0 (30 March 2014) है, इस संस्करण में एडोबी ने काफी सारे परिवर्तन किये और नए नए इनोवेटिव फीचर्स डाले जिनसे पब्लिशिंग का काम बहुत ही सुगमता तथा तीव्रता से किया जा सकता है।

1. इस संस्करण में एडोबी ने टेम्पलेट सम्मिलित किये है जिनके माध्यम से विभिन्न प्रकार के पेजों का डिज़ाइन पहले से हे निर्धारित होता है और आप उन्हें उपयोग में लेकर जल्दी से अपना काम कर सकते है.

2. इस संस्करण में पहले बार टूलबार को जोड़ा गया, जिसके माध्यम से काम करने की गति काफी तीव्र हो गई । इस टूल बार से आप फाइल को सुरक्षित सेव, प्रिंट, फॉर्मेटिंग, स्पेलिंग जांच इत्यादि सिर्फ एक क्लिक से ही कर सकते है।

3. क्लिप आर्ट का उपयोग भी इस संस्करण में किया गया जिसके माध्यम से क्लिप आर्ट (छोटे छोटे पहले से निर्धारित चित्र तथा आइकॉन) का उपयोग पब्लिशिंग में आसानी से कर सकते है ।

4. कलर मैनेजमेंट का प्रयोग पेज मेकर को काफी अलग बनती है, इसके माध्यम से आप अपने डॉक्यूमेंट में रंगों का निर्धारण पसंद के अनुसार करके देख सकते है ।

5. प्रोफेशनल क्वालिटी की प्रिंटिंग

6. आधुनिक तथा एडवांस प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी, जिसके माध्यम से आप डुप्लेक्स प्रिंटिंग, दोनों तरफ प्रिंटिंग, बाइंडिंग प्रिंटिंग इत्यादि आसानी से कर सकते है.

7. फोटोशॉप से डायरेक्टली फोटो को इम्पोर्ट करके उपयोग में ले सकते है.

8. विभिन्न स्त्रोतों से डाटा को मर्ज करके प्रिंटिंग कर सकते है.

Pagemaker का इतिहास

Aldus Pagemaker 1.0 – July 1985 मे Mac OS के लिए release हुआ था और December 1986 मे IBM PC के लिए.

Aldus Pagemaker 1.2 – Mac ने 1986 इसमें कुछ PostScript fonts add किये थे इसके लिए Company को Codie Award से सन्मानित किया गया.

Aldus Pagemaker 2.0 – इसको 1987 में जारी किया गया था। May 1987 तक, विंडोज का प्रारंभिक संस्करण विंडोज 1.0.3 के पूर्ण संस्करण के साथ Bundle किया गया था; उस date के बाद, task-switching क्षमताओं के बिना एक Windows Runtime शामिल किया गया था। इस प्रकार, जिन उपयोगकर्ताओं के पास विंडोज नहीं था, वे MS-Dos से एप्लिकेशन चला सकते थे।

Aldus Pagemaker 3.0 – अप्रैल 1988 में मैकिंटोश के लिए एल्डस पेजमेकर 3.0 को भेज दिया गया था। मई 1988 में पीसी के लिए पेजमेकर 3.0 को भेज दिया गया था और विंडोज 2.0, की आवश्यकता थी, जिसे रन-टाइम संस्करण के रूप में बंडल किया गया था. संस्करण 3.01 OS/2 के लिए उपलब्ध था और बेहतर उपयोगकर्ता जवाबदेही के लिए मल्टीथ्रेडिंग का व्यापक लाभ उठाया।

Aldus Pagemaker 4.0 – मैकिन्टोश के लिए एल्डस पेजमेकर 4.0 को 1990 में जारी किया गया था और लंबे दस्तावेज़ों को संभालने के लिए नई वर्ड-प्रोसेसिंग क्षमताओं, विस्तारित टाइपोग्राफिक नियंत्रण और उन्नत सुविधाओं की पेशकश की गई थी। PC के लिए एक संस्करण 1991 तक उपलब्ध था।

Aldus Pagemaker 5.0 – इस version को जनवरी 1993 में जारी किया गया था।

Adobe Pagemaker 6.0 – एडोब सिस्टम्स द्वारा एल्डस कॉर्पोरेशन के अधिग्रहण के एक साल बाद 1995 में एडोब पेजमेकर 6.0 जारी किया गया था।

Adobe Pagemaker 6.5 – यह 1996 में जारी किया गया था। संस्करण 4.0, 5.0, 6.0 और 6.5 के लिए समर्थन अब आधिकारिक एडोब समर्थन प्रणाली के माध्यम से पेश नहीं किया गया है। एल्डस के बंद, मालिकाना डेटा प्रारूपों के उपयोग के कारण, यह उन उपयोगकर्ताओं के लिए काफी समस्याएँ खड़ी करता है जिनके पास इन विरासत संस्करणों में काम करने वाले लेखक हैं।

Adobe Pagemaker 7.0 – अंतिम version उपलब्ध कराया गया था। यह 9 जुलाई 2001 को जारी किया गया था, हालांकि दो समर्थित प्लेटफार्मों के लिए अपडेट जारी किए गए हैं। Macintosh संस्करण केवल Mac OS 9 या पूर्व में चलता है; मैक ओएस एक्स के लिए कोई मूल समर्थन नहीं है, और यह SheepShaver के बिना Intel आधारित Mac पर नहीं चलता है। यह classic के तहत अच्छी तरह से नहीं चलता है, और एडोब अनुशंसा करता है कि ग्राहक मैक OS 9 में Boot के लिए सक्षम पुराने मैकिनटोश का उपयोग करें। विंडोज संस्करण विंडोज एक्सपी का समर्थन करता है, लेकिन एडोब के अनुसार, पेजमेकर 7.x विंडोज विस्टा पर इंस्टॉल या रन नहीं करता है।

जरूर पढ़े-

Pagemaker का User Interface

Pagemaker की विशेषताओं से यह साफ़ है की पेजमेकर एक बहुत ही उपयोगी सॉफ्टवेयर है तथा सबसे लिए इसका थोड़ा बहुत समझ जरूरी है ताकि आप अपने प्रोफेशनल डॉक्यूमेंट इत्यादि खुद से डिज़ाइन करके प्रिंट कर सके।

जब आप एडोब Pagemaker को खोलेंगे तो आपको सबसे पहले नीचे दी हुई स्क्रीन दिखाई देगी

Pagemaker kya hai aur iske features

टूलबॉक्स (Tool Box)

यह Pagemaker में काम करते समय प्रयोग में लाये जाने वाले टूल्स का संग्रह होता है, यहॉ आपको पब्लिकेशन बनाने में मदद करने वाले 14 प्रकार के टूल्स उपलब्ध होते हैं, असल में पेजमेकर में बनी हुई फाइल को पब्लिकेशन कहा जाता है। इसको सुविधानुसार कहीं भी खिसकाया जा सकता है। जब पेजमेकर में कोर्इ नया पब्लिकेशन बनाया जाता है या पहले से बने पब्लिकेशन को खोला जाता है। तभी टूल बॉक्स में दिये हुए आइकॉन दिखार्इ देने लगते है। यदि किसी कारण से टूलबॉक्स न दिखार्इ देवे तो विंडो मेनू को ओपन करके Show Tools पर क्लिक करके ही टूलबॉक्स के दवारा पेजमेकर में पब्लिकेशन के टेक्स्ट तथा ग्राफ़िक्स का संपादन तथा एडिटिंग की जा सकती है ।

स्टैन्डर्ड टूल बार (Standard Tool Bar)

Pagemaker के मेनू बार के ठीक नीचे एक पट्टी/रिब्बन के रूप में स्टैण्डर्ड टूल बार दिया गया होता है, इसमें ज्‍यादातर उपयोग में आने वाले कमांड्स जैसे, New, Open, Save, Print, find आदि को आइकॉन के रूप में दर्शाया गया होता है , जिनको आप पब्लिकेशन में काम करते समय सिर्फ एक क्लिक करके उपयोग में ले सकते है । स्टैण्डर्ड टूल बार के उपयोग से काम करने की गति और भी तेज हो जाती है तथा कम समय में अधिक काम किया जा सकता है ।

रूलर गाइड (Ruler Guide)

पेज की लम्‍बाई, चौडाई बताने, मार्जिन निर्धारित करने तथा अन्य डाइमेंशन्स के लिये रूलर गाइड का उपयोग किया जाता हैा लेकिन जब कि जरूरत पडे इसे भी खिसकाया जा सकता हैा रूलर गाइड पब्लिकेशन के बाएं तरफ होती है।

कंट्रोल पैलेट (Control Palette)

इसमें अक्षरों का फॉन्ट, फॉन्ट साइज, बोल्ड, इटैलिक, अंडरलाइन, लाइन स्पेसिंग आदि से सम्बंधित उपयोगी ऑप्शन होते है, जो पब्लिकेशन में काम करते समय किसी भी प्रकार की एडिटिंग करने में सहायता करता है।

पेज बार्डर (Page Boarder)

इससे पब्लिकेशन बनाते समय या कुछ टाइप करते समय पेज की स्थिति पता रहती है, यह पेज की बाहरी सीमाओं (Limitations) को दर्शाता है, अगर आपका टाइप किया गया टेक्स्ट अथवा ग्राफ़िक्स पेज की सीमा के बाहर चला जाता है, तो वह प्रिन्‍ट निकालते समय नहीं छपता है। इससे पता लग जाता है की कोनसा पार्ट प्रिंटिंग में नहीं आएगा तथा उसकी प्रिंटिंग के बाद किस स्थिति में दिखाई देगा ।

मार्जिन गाइड (Margin Guide)

जिस प्रकार पेज बॉर्डर से पेज की सीमाओं को दर्शाया जाता है, उसकी प्रकार पेज के अन्‍दर अपने टाइपिंग भाग को निर्धारित करने के लिये मार्जिन गाइड्स का उपयोग किया जाता है। यह पेज पर नीले रंग की एक पतली रेखा के रूप में दिखाई देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here