47 WordPress SEO Tips in Hindi | Beginners Guide

wordpress seo tips in hindi

WordPress SEO Tips in Hindi – वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए SEO एक महत्वपूर्ण टास्क है. लेकिन अच्छी बात यह है की WordPress ने यह सभी चीजों को काफी आसान कर दिया है. WordPress SEO करने के लिए इंटरनेट पर हिंदी भाषा में व्यापक गाइड उपलब्ध नहीं है, या फिर beginners को समझने के लिए काफी टेक्निकल है.

यह आर्टिकल आपके लिए बहोत ही उपयोगी साबित होगा यदि आप seriously अपने ब्लॉग पर visitors की संख्या बढ़ाना चाहते है. क्यों की प्रॉपर WordPress SEO Tips की मदद से आप कम समय में ही अपनी वेबसाइट को rank में ला सकते है और अपने competitor वेबसाइट को हरा सकते है.

SEO का सही इस्तेमाल और White Hat SEO Technique वेबसाइट के rank को सुधारता है तथा इसके गलत इस्तेमाल से आप अपने ब्लॉग को हमेशा के लिए खो सकते है.

जरूर पढ़े –

यदि आप WordPress जैसे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे है तो आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत तो नहीं है लेकिन ट्राफीक प्राप्त करनी है तो थोड़े बहोत कष्ट तो आपको उठाने ही पड़ेंगे।

WordPress एक SEO friendly प्लेटफॉर्म है जहा आपको ब्लॉगर की तरह manually कुछ करने की जरूरत नहीं है, लेकिन मैं आपको बता दूँ के आप WordPress में Advance SEO करके कम समय में ही ब्लॉग रैंक में सुधार ला सकते है.

इस आर्टिकल में मैं आपको Best Advanced WordPress SEO Tips के बारे में बताऊंगा जिससे आप अपने वर्डप्रेस वेबसाइट को SEO फ्रेंडली बना सकते है.

तो चलिए जानते है 41 Best WordPress SEO Tips के बारे में…

wordpress seo tips in hindi

All headings show

WordPress SEO Tips in Hindi – Beginners Guide

SEO का फुल फॉर्म Search Engine Optimization है. जिसे सर्च इंजन पर ट्रैफिक प्राप्त करने और ब्लॉग पोस्ट को गूगल के फर्स्ट पेज पर लाने के लिए किया जाता है.

इसके सही स्ट्रेटेजी की मदद से आप सर्च इंजन पर अपने वेबसाइट को higher rank में ला सकते है. लेकिन ध्यान रहे SEO के गलत स्ट्रेटेजी से आपके ब्लॉग को नुकसान भी हो सकता है.

गूगल एक तरह का advanced algorithm है जो ऑटोमेटिकली काम करता है. यह आपके वेब pages को प्रॉपर तरीके से rank में लाने के लिए काफी सक्षम है. इसलिए मेरा आपको यही suggestion रहेगा के आप सही तरीके से सभी चीजों को optimize करे और धीरे धीरे गूगल आपको इसका सही फल भी दे देगा।

लेकिन यदि आप अपनी वेबसाइट को Optimize नहीं करते है तो सर्च इंजन को ये पता नहीं चलेगा के आपके वेबसाइट को कैसे rank करे. Optimization ना होने की वजह से जिस भी टॉपिक पर आपने आर्टिकल लिखा है वो लोगो ने सर्च भी किया तब भी आपका पेज सर्च इंजन पर show नहीं होगा।

इसलिए सभी वेबसाइट ओनर को ट्रैफिक पाने के लिए अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन के लिए अनुकूल बनाना होगा। जिससे आपके वेबपेजेस जल्दी इंडेक्स होने के साथ साथ traffic को भी maximize करेंगे।

WordPress वेबसाइट optimize करने लिए और WordPress SEO करने के लिए निचे दिए सभी टिप्स को ध्यान से फॉलो करे.

1. Check WordPress Visibilty Settings

आपके वेबसाइट को सर्च इंजन से हाईड करने के लिए (क्रॉलिंग और indexing रोकने के लिए) WordPress में built-in फीचर मौजूद है. वेबसाइट बनाने के बाद पोस्ट लिखने से पहले यदि आप वेबसाइट पर काम करना चाहते है तो यह काफी यूजफुल फीचर है.

अगर आपकी वेबसाइट सर्च रिजल्ट पर दिख नहीं रही है तो इसके पीछे का reason यह visibility सेटिंग हो सकती है. इसलिए इसे unchecked करना जरूरी है.

सबसे पहले WordPress के admin panel में लॉगिन करे और वहासे settings > Readings में जाकर Search “Engine Visibility setting” को unchecked रखे.

2. Check URL Permalink structure (Search Friendly URL)

WordPress इनस्टॉल करने के बाद SEO friendly permalinks को activate करना जरुरी है. आपको इस प्लॅटफॉर्म पर पोस्ट URL structure बदलने के लिए कही सारे विकल्प दिए जाते है और आपको इसमें से SEO friendly URL structure के अनुकूल विकल्प चुनना होगा।

WordPress में दिया default URL structure SEO के अनुकूल नहीं है-

https://example.com/?p=123

इस तरह के यूआरएल से आपको ये भी पता नहीं चलेगा के आपने कौनसा पेज पब्लिश किया है और ऐसे Id से आर्टिकल की पहचान भी नहीं हो सकती।

लेकिन वर्डप्रेस में आप इसे customize कर सकते है.

SEO friendly URL सेट करने के लिए Settings में जाकर Permalinks पर क्लिक करे और Post name विकल्प को चुने।

3. Add Website to Google Search console

Google पर वेबसाइट Index करने के लिए आपको गूगल के बनाये आटोमेटिक क्रॉलर टूल (गूगल सर्च कंसोल) पर अपनी वेबसाइट सबमिट करनी होगी।

इसमें आपको inbuilt वेबसाइट traffic dashboard भी मिल जायेगा जिससे आप अपने वेबसाइट के clicks, impression को ट्रैक कर सकोगे।

यह टूल बहोत ही उपयोगी है इसकी मदद से आप bad backlinks को भी remove कर सकते है और deleted pages को गूगल से हटा भी सकते है.

यहां आपको वेबसाइट मी आने वाली Errors के साथ मोबाइल फ्रेंडली पेज यूआरएल के बारे में भी पता चलेगा।

4. Submit Sitemap in Search Console

Sitemap यानी वेबसाइट पर index हुए सभी URL’s की लिस्ट होती है जिससे गूगल को आपके वेबसाइट को ट्रैक करने में मदद मिलती है. आपने वेबसाइट पर कोई violations किया तो गूगल इसकी मदद से यूआरएल को सर्च इंजन से हटा सकता है.

यह वेबसाइट के सभी pages को बेहतर तरीके से क्रॉल करने में मदद करता है. इसके अलावा यह Google को बताता है कि आपकी साइट में कौन से Pages और files महत्वपूर्ण हैं, और इन फ़ाइलों के बारे में मूल्यवान जानकारी भी प्रदान करता है.

उदाहरण के लिए, URL अंतिम बार कब अपडेट किया गया था, और उसके बाद वह पेज कितनी बार बदला गया है आदि जानकारी गूगल को sitemap से ही मिलती है.

5. Preferred Domain Setup करे

example.com or www.example.com इन दोनों में आप किसी भी Preferred Domain का इस्तेमाल कर सकते है, क्यों की इससे आपके वेबसाइट के SEO पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। लेकिन आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता होगी कि आपकी साइट इनमें से किसी एक डोमेन पर उपलब्ध हो. आप दोनों में अलग अलग डोमेन एड्रेस का उपयोग नहीं कर सकते।

डोमेन सेटअप करने के लिए Settings > General में जाकर address को ठीक से सेटअप करे.

Note: URL को https में टाइप करने से पहले यह सुनिश्चित करे की आपके वेबसाइट में SSL पहले से installed हो. आप sslforfree.com पर जाकर इसे सेटअप कर सकते है. Hostinger पर आपको यह फ्री में मिल जायेगा।

6. SEO Friendly WordPress Themes (Use premium if possible)

वेबसाइट में SEO के अलावा Theme का भी काफी बड़ा हिस्सा है. सही थीम चुनना वेबसाइट के लिए बहोत ही जरूरी है. क्यों की आपको पता ही होगा first impression is the last impression.

वर्डप्रेस जैसे platform पर available default themes काफी अच्छी होती है. आपको सिर्फ उन्हें optimize करने की जरूरत है. लेकिन यहा मैं आपको recommed करूँगा के आप किसी प्रीमियम WordPress Themes को choose करे.

यहां आपको लाइफटाइम सपोर्ट के साथ प्रीमियम features भी मिल जाते है और खास बात यह है की वह पहले से SEO optimized रहते है.

आप जब भी किसी थीम को चुने तब gtmetrix, google page speed पर जाकर वेबसाइट loading speed जरुर चेक करे.

गलत थीम आपके ब्लॉग speed के साथ आपके ब्लॉग रैंकिंग को बिघाड सकती है इसलिए हमेशा सही थीम का चुनाव करे.

7. Install and Setup SEO Plugin

इससे पहले कि आप अपनी WordPress साइट को optimize करना शुरू करें, आपको एक SEO प्लगइन install करने की जरूरत होगी।

इस platform पर आपको blogger.com की तरह हर चीज का manually SEO करने में ज्यादा परेशानी नही उठानी पडती क्यों की यहा काफी useful SEO plugins free में मौजूद है जो अपनेआप सभी टेक्स्ट को realtime चेक करके SEO में हुई गलतियोको उसी page पर दिखाते है. जिससे आप तुरंत उसे ठीक कर सकते है और अपने ब्लॉग seo को सुधार सकते है.

यहा कुछ विकल्प है जिसका आप इस्तेमाल कर सकते है-

  • Yoast SEO
  • All in One SEO
  • Rank Math SEO Plugin

इन सभी plugins का performance ratio काफी अच्छा है लेकिन मैं personally Yoast plugin का इस्तेमाल करने की सलाह दूंगा.

यह plugin SEO इंडस्ट्री में काफी सालो से है इसलिए सर्च इंजन में रैंक करने के हर तरीके को अच्छी तरह से जानता है. इसके अलावा Yoast आपके WordPress SEO में सुधार करता है और सर्च इंजन में अच्छी रैंक लाने में हर तरह से आपकी मदद करता है.

इसके alternative में आप RankMath or All in One SEO plugin का यूज कर सकते है, जो Yoast की तरह 4+ रेटिंग के साथ आते है और काफी पॉपुलर भी है.

8. Implement Sitemap

गूगल सर्च कंसोल में Sitemap सबमिट करने के बाद आप SEO plugin में भी इसे activate कर सकते है. इस तरह के plugins आपके ब्लॉग URL’s को काफी अछेसे मैनेज और लिस्ट करते है.

Yoast में sitemap activate करने के लिए आपको Yoast > General > Features में जाकर XML sitemaps सेटिंग को enable करना होगा.

9. Use CDN

CDN (content delivery network) आपके वेबसाइट के performance और speed को बढ़ाने के लिए यूज किया जाता है.

CDN टूल्स वेबसाइट के कही countries में अपने सर्वर्स होते है जो आपके वेबसाइट की कॉपी बनाकर उनके नजदीकी लोकेशन पर स्टोर करते है. और जब किसी विजिटर की request आती है तब वह उनके निकटतम सर्वर्स से विजिटर को content सर्व करते है.

इससे आपके होस्टिंग प्रोवाइडर के सर्वर्स कही भी हो, CDN अपने हिसाब से आपके वेबसाइट ट्रैफिक को manage कर लेता है. इसके अलावा स्पैम ट्रैफिक और hackers से भी आपके वेबसाइट को बचाता है.

यह आपके होस्टिंग सर्वर का लोड कम करता है, जिसकी वजह से आपकी WordPress साईट फ़ास्ट लोड होती है. इन वेबसाइट में अपने features भी होते है जो ब्लॉग के performance को बूस्ट करते है जैसे,

  • DDoS attack mitigation
  • Global Content Delivery Network
  • DDoS Alerts Enhanced security with Web Application Firewall (WAF)
  • Lossless image optimization
  • Automatic mobile optimization
  • Cache Analytics
  • 100% uptime SLA
  • CNAME set-up compatibility
  • Universal SSL certificate
  • Argo smart routing
  • Brotli compression

10. HTTP to HTTPS में Convert करे

2014 के बाद google ने वेबसाइट में होने वाले fraud और hacking से बचने के लिए https को introduce किया था. HTTPS आपके वेबसाइट पर आने वाली ट्रैफिक authorized source से है या नही इसका पता लगाता है.

जब भी आप कभी किसी वेबसाइट को विजिट करते है तब आपको ऊपर एड्रेस बार पर ग्रीन लाइट दिखाई देता है जिसका मतलब यह होता है की वेबसाइट में SSL installed किया हुआ है और वेबसाइट https से ओपन हो गयी है.

Indirectly वह वेबसाइट secure होती है और authorized source से होस्टेड होती है.

Website secure करने के कुछ टिप्स-

  • WordPress में CDN का इस्तेमाल करे
  • वेबसाइट में SSL install करे
  • Hostinger, hostgator जैसे वेबसाइट पर आप free में SSL installed कर सकते है.
  • sslforfree वेबसाइट का इस्तेमाल करके free में https को enable करे
  • https redirection के लिए Really Simple SSL का इस्तेमाल करे.

11. Add Social Media Share Plugins

किसी भी तरह की वेबसाइट को प्रमोट करने के लिए उसे social media, whatsapp जैसे platform पर शेयर करना जरूरी होता है.

वेबसाइट को सही से प्रमोट ना करने की वजह से आपको शुरुवात में ट्रैफिक प्राप्त करने में मुसीबत का सामना करना पड सकता है.

Social share के लिए आप Social snap, smash balloon, Shared counts, AddToAny, Social Icons Widget by WPZoom plugins का इस्तेमाल कर सकते है.

12. Keyword research करे

किसी भी टॉपिक के आर्टिकल को रैंक में लाने के लिए उस टॉपिक पर कीवर्ड रिसर्च करना बहोत जरूरी है. कीवर्ड रिसर्च SEO लिस्ट में सबसे ऊपर आता है क्यों की इससे आपको उस कीवर्ड (टाइटल) के ऊपर आपको मंथली कितने व्यूज मिलने के चांसेस है इसका पता लगता है.

इसके अलावा कीवर्ड सर्च से आपको उस टॉपिक का सर्च इंजन पर कम्पटीशन कैसा है इसके बारे में भी पता चलता है. यानी हाई कीवर्ड यदि हाई कम्पटीशन वाला होगा तो आपको पोस्ट रैंक करने में ज्यादा मेहनत करने की जरूरत होगी क्यों वहा काफी लोग पहले से रैंक में है. और low कम्पटीशन कीवर्ड जल्दी रैंक कर जाते है जिसकी वजह से आपके ब्लॉग पर कम समय में ट्रैफिक आनी शुरू हो जाती है.

13. Write High-Quality Article

WordPress साईट को optimize करने के साथ आपको आपके content के ऊपर भी ध्यान देना होगा.

कीवर्ड रिसर्च करने के बाद जिन भी कीवर्ड का आपने चुनाव किया है उसे आपको सही तरीके से सही जगह पर इन्सर्ट करना होगा जिससे google क्रॉलर उन कीवर्ड पर से आपके टॉपिक category का पता लगा सके.

ऐसा करने से google आपके आर्टिकल को उस कीवर्ड पर से सही पोजीशन में रैंक करेगा. और जैसे जैसे आपको ट्रैफिक मिलती है उस हिसाब से आप के पोजीशन में भी सुधार होगा.

इसके लिए आपको सर्च इंजन कैसे वर्क करता है इसके बारे में पता होना चाहिए।

14. Infographics Images Insert करे

WordPress SEO और ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए यह एक महत्वपूर्ण स्टेप है. Infographics Images यानी आपने आर्टिकल में जो जो स्टेप्स दिए है उसकी summary होती है.

यह एक चार्ट है जो visual तरीके से लोगो के आपके टॉपिक के बारे में समझाता है. इससे लोगो को आपका आर्टिकल और अच्छेसे समझने में मदद मिलती है और Visual chart से उन्हें सभी चीजे ज्यादा देर तक याद भी रहती है.

15. Optimize Your Post as per White hat SEO rules

SEO में दो तरह की techniques है- White hat SEO और Black hat SEO.

White hat SEO की मदद से आप अपनी वेबसाइट का लीगल SEO करके वर्डप्रेस साईट को optimize और रैंक करते है.

Black Hat SEO technique में लोग गलत तरीका अपनाते है जहां गूगल पॉलिसीज के खिलाफ जाकर ब्लॉग को रैंक किया जाता है.

यह एक शॉर्टकट तरीका है जिसकी मदद से आपकी पोस्ट जल्द ही गूगल सर्च के टॉप पोजीशन में दिखने लगती है, लेकिन गूगल का अल्गोरिथम अब काफी स्ट्रॉन्ग हो गया है, ऐसी चीजे करना आपके WordPress साईट के लिए हानिकारक हो सकता है और यदि आप Adsense enabled तो आप ऐसी चीजो से दूर ही रहोगे तो बेहतर होगा.

White Hat SEO करने की कुछ टिप्स-

  • High Quality आर्टिकल लिखे
  • Post में keyword को सही जगह place करे
  • Avoid Duplicate content and keyword stuffing
  • Insert keyword in the page title and meta description

यहा एक जरूरी गाइड है-

16. Focus Keywords इस्तेमाल करे

जब WordPress SEO की बात आती है, तो यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि Google अभी भी एक कंप्यूटर एल्गोरिथ्म है। उस कारण से, यह 2021 में भी मायने रखते हैं।

जब भी आप कभी ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं या अपनी WordPress साइट पर उस पेज को पब्लिश करते हैं, तो आपका ध्यान हमेशा आपके मेन keywords पर ही होना चाहिए।

यहा हम रिसर्च किये कीवर्ड को ही फोकस कीवर्ड कह रहे है. इनके सही प्लेसमेंट से सर्च इंजन क्रॉलर को उस ब्लॉग पोस्ट की पोजीशन सेट करने में मदद मिलती है और आपकी रैंक भी उस कीवर्ड पर बढने लगती है.

Yoast SEO plugin का उपयोग करके, आप जिस भी टॉपिक पर लिखना चाहते है उस फोकस कीवर्ड को आसानी से सेट कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, इस पोस्ट के लिए हम “WordPress SEO” फोकस कीवर्ड का उपयोग कर रहे हैं। और Yoast हमे इस keyword की density और placement कहा इन्सर्ट करे इसकी realtime जानकारी डिस्प्ले कर रहा है.

आम तौर पर 0.5 percent या उससे थोड़ी ज्यादा ideal density होती है. इसलिए आपको focus keyword कितनी बार दिखाना है इस बारे में ध्यान रखने की भी आवश्यकता होगी.

17. SEO Title and Meta description

choose किये focus keyword को page title और meta description में जरुर शामिल करे क्यों की यह SEO experts द्वारा recommended है.

उनका यह भी कहना है की focus keyword को page title के शुरुवात में ऐड करे जिससे सर्च इंजन क्रॉलर टाइटल से आपके टॉपिक के बारे में आसानी से जान सके.

उदाहरण के लिए, हमने इस ब्लॉग पोस्ट के Title की शुरुआत में अपना focus keyword “WordPress SEO” को ऐड किया है और इसका उपयोग हमने सिर्फ थोड़ा एसईओ बढ़ाने के लिए नही किया, बल्कि मुख्य रूप से पाठकों को यह स्पष्ट करने के लिए किया है कि ब्लॉग पोस्ट क्या है और हमारा यह टॉपिक आपको किस विषय के बारे में जानकारी देने वाला है।

Title में सही तरह से keyword का इस्तेमाल सर्च इंजन पर आपके ब्लॉग पोस्ट के click-through rate को improve करता है और इससे आपको ट्रैफिक increase करने में काफी मदद मिल जाती है.

18. Internal linking करे

जब ट्रैफिक प्राप्त करने की बात होती है तब Internal linking or on page link building एक महत्वपूर्ण फैक्टर है.

Internal links वो लिंक्स होते है जो आपके एक WordPress पेज से आपके दुसरे पेज को point करते है. यह सिर्फ SEO के लिए नही बल्कि साईट नेविगेशन के लिए भी महत्वपूर्ण है.

सर्च इंजन क्रॉलर इसे एक वैल्युएबल content के नजरिये से देखता है क्यों की आप यहा relevant landing पेजेस को वैल्यू दे रहे है और साथ में फोकस कीवर्ड का भी सही इस्तेमाल कर है.

Internal link इन वजह से महत्वपूर्ण है-

  • इस तरह के लिंक्स आपकी वेबसाइट पर लोगों को नेविगेट करने और आपकी साइट पर बिताए समय को बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • इससे बाउंस रेट maintain रहता है.
  • relevant links होने की वजह से लोग वेबसाइट के दुसरे पेजेस देखने में interested हो जाते है और इससे indirectly ट्रैफिक भी Increase हो जाती है.
  • यह आपकी वेबसाइट की authority बढ़ाने में मदद करते हैं, क्योंकि वे dofollow links होते हैं।

19. Prevent from the duplicate content penalty

Duplicate content का अर्थ है कि सर्च इंजन पर multiple locations (URL) में same content का दिखाई देना.

Same content की वजह से सर्च इंजन को पता नहीं होता है कि सर्च रिजल्ट में कौन सा URL दिखाना है। यह आपके वेबपेज की रैंकिंग को नुकसान पहुंचा सकता है, और यह समस्या तब ज्यादा ख़राब हो जाती है जब लोग एक ही content को विभिन्न जगह पर पब्लिश करना शुरू करते हैं।

Same links को identify करने के लिए आप google पर site:example.com intitle:”Keyword” सर्च कर सकते है.

URL Identify होने पर duplicate content को different canonical URL पर redirect करे. वेब पेज को permanently damage होने से बचाने के लिए duplicate content का 301 Redirect करे.

20. SEO Friendly URL slug

Slug URL का एक पार्ट है जो वेबसाइट के किसी पर्टिकुलर page के identification के बारे में पता चलता है. दूसरे शब्दों में कहे तो, यह URL का वह भाग है जो पोस्ट पेज के content को explain करता है।

उदाहरण के लिए, https://discoverinhindi.in/wordpress-seo-tips में wordpress-seo-tips एक slug है.

Yoast में यह permanlink structure के साथ काम करता है, इसलिए यदि आपने Permalinks को post name से सेट किया है तो आप easily post editor में इसे change कर सकते है.

Permalinks सेटिंग्स के बारे में मैंने ऊपर बताया है. आप Settings > Permalinks में जाकर इसे edit कर सकते है. मैं आपको recommend करूँगा के आप post name को चुने क्यों की यह समझने में आसान है और most of the experts इसी यूआरएल structure को first प्रायोरिटी देते है.

Note: आपकी साइट ऑनलाइन होने के बाद अपनी Permalink सेटिंग्स को या फिर slug न बदलें। इससे आपके पुराने वाले page slug पर error 404 page not found आ जायेगा और नये slug को सर्च इंजन एक नये page के रूप में इंडेक्स करेगा.

URL slug SEO में इतने इम्पोर्टेन्ट नही होते है लेकिन इससे विजिटर को आपके ब्लॉग पोस्ट के बारे में जानकारी प्राप्त होने काफी मदद मिलती है.

Yoast experts के हिसाब से आपको अपने focus keyword को slug में इस्तेमाल करना चाहिए क्यों की इससे google को आपके page content को determine करने में आसानी होती है.

21. Image Alt text

गूगल एक बेहतर अल्गोरिथम है जो users को वैल्युएबल जानकारी प्रदान करने के लिए आपके content का अच्छेसे इस्तेमाल कैसे करे इसके बारे में जानता है. लेकिन गूगल अभी भी एक मशीन ही है इसलिए relevant content को सर्च इंजन पर दिखाने के लिए उसे मनुष्यों के मदद की आवश्यकता है.

इमेजेस से आपने पोस्ट किये content को समझने के लिए Alt tag सर्च इंजन पर कीवर्ड की तरह काम करता है.  क्योंकि एल्गोरिथ्म न तो देख सकता है और न ही संज्ञानात्मक रूप से छवियों को समझ सकता है।

Images पर alt attribute tag सेट करने से google को यह समझने में मदद मिलती है की इमेज किस बारे में है और उसे सर्च इंजन पर कैसे इंडेक्स करना है.

Alt text से Image Optimization करके सर्च इंजन को आपके ब्लॉग पोस्ट content को समझने में आसानी होगी और इसीके साथ Image की वजह से वेबसाइट में user experience भी अच्छा हो जायेगा.

22. Optimize website loading speed

जब WordPress SEO की बात आती है तो हम loading speed को ignore नही कर सकते. Google ने 2010 में announced किया था की यह आपकी रैंकिंग को प्रभावित करता है और सबसे महत्वपूर्ण बात, visitors के लिए page speed काफी ज्यादा मायने रहती है.

loading speed क्यो महत्वपूर्ण है-

  • experts के अनुसार 4 visitors में से एक वेबसाइट को छोड़ देगा यदि साईट लोड होने में 4 सेकंड्स से ज्यादा टाइम लगता है.
  • 46 percent users ख़राब प्रदर्शन करने वाली (poorly performing) वेबसाइट पर फिरसे विजिट नही करते है.
  • वेबसाइट ओनर के पास विजिटर को attract करने के लिए सिर्फ ५ सेकंड का वक्त होता है, नही तो यूजर साईट को छोड़ देते है.
  • मोबाइल पर एक्सेस होने वाली साईट यदि page लोड होने में ५ सेकंड्स से ज्यादा का समय लेती है तो 74% लोग वेबसाइट छोड़कर चले जाते है.

इन सभी points से आपको समझ आगया होगा की किसी भी वेबसाइट के लिए loading speed कितनी जरूरी है.

23. दुसरे search engine पर WordPress वेबसाइट verify करे

Google search console पर अपनी वेबसाइट verify करने के बाद आपको बाकि सभी सर्च इंजन जैसे, Baidu, Bing, Yanex, Yahoo पर भी अपनी साईट को verify कर लेना चाहिए.

Google search console पर यह काफी आसान है-

  • सर्च कंसोल के डैशबोर्ड में जाकर Settings > Ownership verification ऑप्शन पर क्लिक करे और HTML tag विकल्प को चुनकर tag id को कॉपी कर ले.
  • Yoast SEO > General > Webmaster Tools में जाकर id को google search console के सामने वाले textbox में पेस्ट कर दे.
  • बाकी सभी सर्च इंजन के लिए Webmaster Tools पर textbox के निचे दिए गये links का इस्तेमाल करे.

24. Fix website broken links

URL slug or permalinks वेबसाइट ऑनलाइन हो जाने के बाद change करने से पुराने वाले यूआरएल की link broke हो जाती है यानी उस पुराने URL पर page not found 404 का error आ जाता है, जिसकी वजह से जब visitors उस link पर क्लिक करते है तो पेज URL change होने की वजह से उन्हें सही ब्लॉग पोस्ट दिखाई नही देती और वो दुसरे वेबसाइट पर चले जाते है.

यह आपके WordPress SEO के लिए बेहद नुकसानदायक होता है. क्यों की नये यूआरएल फिरसे index होने में समय लगता है और पहले से रैंक हुआ पेज slug चेंज होने के वजह से डिलीट हो जाता है. इससे उस keyword पर रैंक हुई पोस्ट google से हट जाती है और नया पेज फिरसे उसी पोजीशन पर इंडेक्स होगा इसके चांसेस ना के बराबर हो जाते है.

लेकिन इसे Yoast या URL redirection plugin की मदद से फिक्स किया जा सकता है-

  • Yoast SEO में SEO > Redirects पर जाकर Plain redirect में Type: 301 moved permanently को चुने.
  • Old URL को पेस्ट करे
  • उसके बाद change हुए नये URL को कॉपी करके यूआरएल के सामने वाले textbox में पेस्ट करे.
  • Add redirects button पर क्लिक करे.
  • अगर आप Yoast Premium का इस्तेमाल कर रहे है तो आप इसे पोस्ट एडिटर में ही redirect कर सकते है.
  • Yoast के alternative आप 301 Redirects – Easy Redirect Manager plugin को यूज कर सकते है.

25. Delete Spam Comments

Spam comments unauthorized source से आती है और आपके WordPress साईट के लिए हानिकारक हो सकती है. काफी सारे hackers लिंक्स के जरिये वेबसाइट का डाटा निकालने की कोशिश करते है. यदि कोई उस लिंक पर क्लिक करता है तो उसका पर्सनल डाटा चोरी होने का भी खतरा हो सकता है.

visitors के सेफ्टी के लिए आपको स्पैम comments को जरुर detele करना चाहिए.

इसके अलावा इस तरह के comments वेबसाइट डेटाबेस में unwanted size को बढाते है और इससे wordpress loading speed पर भी असर हो सकता है.

इन spam comments को ऑटोमेटिकली ब्लॉक करने के लिए आप Akismet Spam Protection or Antispam Bee plugin का उपयोग कर सकते है.

26. Updated Ping list for faster lndexing

जब भी आप कभी आर्टिकल को पब्लिश करते है, उसे edit करते है, या फिर किसी इनफार्मेशन को चेंज करते है तब उसी टाइम WordPress सभी Ping Services को आपने Add किये हुए Pings भेजता है और इस तरह, पिंग सेवाओं को नए पोस्ट के बारे में सूचित किया जाता है. इससे सर्च इंजन को अपडेटेड डाटा के बारे में पता चलता है और web crawler पोस्ट index होने में समय लगता है वो बच जाता है।

इसका खासकर इसी के लिए उपयोग किया जाता है की आपकी पोस्ट जल्द से जल्द google रिजल्ट में show करे.

डिफ़ॉल्ट पिंग लिस्ट WordPress पर मौजूद है लेकिन वह लिस्ट आपके ब्लॉग पोस्ट इंडेक्स होने में काफी समय लगा देती है. लेकिन आप manual तरीके से इनमे अधिक ping lists को जोड़कर अपनी सीमा का विस्तार कर सकते हैं।

यहा मैंने WordPress वेबसाइट को फ़ास्ट इंडेक्स करने के लिए Updated Ping List की सूचि तयार की है जिसे आप यूज कर सकते है-

27. Optimize Robots.txt file

Robots.txt का काम गूगल अल्गोरिथम के Web robots को सुचना देना है और इन Web robots को ही Internet term में Web crawlers कहा जाता है.

यह सबसे महत्वपूर्ण फाइल है, जहासे आपके सभी pages indexing के लिए भेजे जाते है. यदि आप Google और अन्य सर्च इंजन द्वारा सूचीबद्ध pages या फाइल्स सर्च इंजन पर नहीं चाहते हैं, तो आपको अपनी robots.txt फ़ाइल का उपयोग करके उन्हें ब्लॉक कर सकते है।

Yoast का उपयोग करके आप इसे ऑटोमेटिकली कर सकते है. Category, tags, pages index or noindex करने के बाद यह जरूरी कोड को robots.txt के अंदर अपनेआप इन्सर्ट कर देगा.

इसे आप Yoast SEO > Tools > File editor से change करे. या फिर manually edit करने के लिए hosting file manager का इस्तेमाल करे.

इससे पहले कि सर्च इंजन आपकी वेबसाइट को क्रॉल करे, यह आपकी robots.txt फ़ाइल को चेक करता है और अगर आपने क्रॉल करने की अनुमति दे रखी है तो ही आपके ब्लॉग पोस्ट को google पर इंडेक्स करता है।

आप मेरे वेबसाइट की robots.txt को यूज कर सकते है-

User-agent: *
Disallow: /cgi-bin/
Disallow: /wp-admin/
Disallow: /recommended/
Disallow: /comments/feed/
Disallow: /trackback/
Disallow: /index.php
Disallow: /xmlrpc.php
Disallow: /page/
Disallow: /refer/
Disallow: /readme.html
Disallow: /wp-content/plugins/

User-agent: Mediapartners-Google*
Allow: /

User-agent: Googlebot-Image
Allow: /wp-content/uploads/

User-agent: Adsbot-Google
Allow: /

User-agent: Googlebot-Mobile
Allow: /

sitemap: https://example.com/sitemap_index.xml

28. Optimize or compress images

Image साइज़ को optimize (compress) करके आप वेबसाइट की performance को बढ़ा सकते है. यह आपके page के साइज़ को भी decrease करता है, जिसकी वजह से आपकी वेबसाइट को फ़ास्ट लोड होने में मदद मिलती है.

ऐसे कही सारे free or premium wordpress plugins मौजूद है जिसकी सहायता से आप Image optimization कर सकते है.

यहा मैंने कुछ highly rated plugins को लिस्ट किया है जिनका आप उपयोग कर सकते है-

  • Smush (recommended)
  • Shortpixel
  • Imagify
  • Optimus
  • EWWW Image Optimizer
  • Tinypng.com (external recommended)

29. Use Responsive Mobile Friendly Design

Google ने 2016 में mobile-first indexing strategy को introduced किया था. उनके नये अल्गोरिथम के अपडेट में उन्होंने यह कहा था के वो अब सर्च इंजन पर पेज रैंक करने के लिए mobile responsive content का भी उपयोग करेंगे. जिसके चलते अब सभी को responsive content और themes पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है.

इसके अलावा यदि आपकी wordpress वेबसाइट मोबाइल friendly नही है तो visitors को अच्छा यूजर एक्सपीरियंस नही मिल पायेगा और आप वेब ट्रैफिक की कमी के कारण रैंक में पीछे चले जाओगे.

आपको पता ही होगा अधिकतर यूजर्स मोबाइल पर ही सर्च करना पसंद करते है और यही कारण है की गूगल ने भी इसे seriously लेकर as a ranking factor कंसीडर किया है.

WordPress में अधिकतर themes responsive डिजाईन के साथ ही आते है लेकिन आपको google console पर इसकी जाँच करनी चाहिए. यदि कोई भी indexed page मोबाइल friendly नहीं है तो सर्च कंसोल पर आपको notification देखने को मिलता है, वहासे पता लगाकर आप उस error को ठीक कर सकते है.

responsive design चेक करने के लिए आप google mobile friendly tool का इस्तेमाल करे.

30. Unnecessary Plugins Remove करे

हद से ज्यादा plugins आपकी wordpress साईट को एफेक्ट करता है और इससे आपके वेबसाइट की performance पर भी असर होता है, इसलिए जिन plugins की आपको आवश्यकता नही है उन्हें आपको delete करना चाहिए.

इसके अलावा plugins को डाउनलोड करने के लिए wordpress.org या फिर उनके official वेबसाइट का ही उपयोग करे. unauthorized nulled cracked version के करने आपके वेबसाइट में malware घुसने के चांसेस रहते है. यह आपके साईट को तो नुकसान पहुचाते है, साथ में थीम में मौजूद कोड को भी delete कर देते है.

कोड डिलीट होने से आप अपनी साईट को एक्सेस नही कर पाएंगे और आपको फिरसे शुरुवात करनी पड़ेगी. इसलिए वेबसाइट का regular backup भी आपको जरुर लेना चाहिए.

31. Focus keyword ranking को track करे

Yoast SEO में focus keyword add करने के बाद वह keyword कैसे perform कर रहा है इसे चेक करने की भी आपको आवश्यकता होगी।

यदि आपने focus किया keyword सर्च इंजन पर अच्छा performance नही दे रहा है और उससे आपकी ranking प्रभावित हो रही है, तो आपको keyword को change करने की जरूरत होती है. इसलिए समय समय में अपने keywords को जरुर track करते रहे.

यह सुनने में काफी boaring लगता है लेकिन track करने से आपको उस keyword के density के बारे में पता चलेगा और उस keyword से आपको मंथली कितने clicks, impressions मिल रहे है इसके बारे में पता लग जायेगा.

ध्यान रहे सही track पर रहोगे तो ही आगे बढ़ पाओगे क्यों की एक बारे track के निचे चले गये तो संभलना काफी मुश्किल हो जाता है.

WordPress SEO में Focus keywords ट्रैक करने के लिए SEMrush, Ahrefs rank tracker, Accurank, Google search console का उपयोग कर सकते है.

32. Optimize database regularly

WordPress Information को store करने के लिए database का उपयोग करता है. यह database वर्डप्रेस के बैकबोन की तरह काम करता है, क्यों की इसमें सभी जानकारी जैसे, Images, text, username, password, post, pages, configuration settings, themes आदि stored रहती है.

यदि आप regularly database optimize नही करते है तो आपके साईट पर load बढने लगता है और इसमे वेबसाइट का performance डाउन हो जाता है.

इसीके साथ वेबसाइट में आपने जो भी एक्टिविटी की है उसकी cache फाइल्स saved हो जाती है, यदि पोस्ट को अपडेट करते समय इन्टरनेट चला जाये, पोस्ट सेव नही हुई तो वर्डप्रेस database के is cache फोल्डर से डाटा retrieve करके आपको दिखता है.

लेकिन पुरानी फाइल्स का हमे कोई उपयोग नही रहता क्यों की जब भी आप पोस्ट को draft में save करते है, या पोस्ट preview करते है, तब इस activity को भी database save कर लेता है. ऐसे कही unwanted फाइल्स stored रहने की वजह से database पर तो load बढ़ता है साथ में आपके wordpress वेबसाइट भी ओपन होने में समय लेती है.

इसलिए WordPress SEO को बेहतर बनाने के लिए हमेशा अपने database को optimize करते रहना चाहिए.

Database optimization करने के लिए कही plugins available है जिन्हें आप free में install कर सकते है. मैं personally Wp-optimize यूज करने की सलाह दूंगा.

आप premium cache plugin का उपयोग करके भी इसे optimize कर सकते है. इसके लिए Wp-rocket एक best plugin है.

33. Nofollow External links

External links nofollow tag के साथ आते है. इन्हें users को trustable साईट पर redirect करने के लिए यूज किया जाता है.

इसके अलावा यदि आप सर्च इंजन से add की हुई link हाईड करना चाहते है तो आप link में nofollow tag सेट कर दीजिये यह अपने आप web क्रॉलर को link क्रॉल करने से रोक देगा.

इस तरह की लिंक trusted होनी चाहिए नही तो आपको google से penalty लग सकती है. आपकी ब्लॉग पोस्ट ऐसे लिंक की वजह से सर्च इंजन से रिमूव हो जाती है इसलिए इन बातो का ध्यान रखे.

यह एक reference की तरह काम करता है इसलिए हमेशा सही वेबसाइट को refer करे और ऐसी चीजे जिनसे आपकी साईट दंडित हो सकती है उनसे दूर रहे.

34. Make Ads Lazy load

Lazy load को आप smart load कह सकते है.

google या फिर किसी भी तरह की ads अपने page content के साथ ही लोड होती है. इस वजह से page load time बढ़ जाता है और साईट ओपन होने में समय लगाती है.

यदि आप किसी plugin का इस्तेमाल ads integrate करने के लिए कर रहे है तो WP QUADS आपके लिए एक बेहतर ads integration plugin है.

35. Minify Html, CSS, and Javascript

Minify यानी reduce करना. आप plugin के जरिये WordPress वेबसाइट के Html, CSS, and Javascript code को reduce कर सकते है.

Minify से whitespaces delete हो जाते है और page साइज़ कम हो जाती है. और मैं आपको बता दू के यह realtime में होता है.

जब कोई विजिटर साईट को विजिट करता है तब plugin पेज को फ़ास्ट load करने के लिए Html, CSS, and Javascript को temperary reduce करता है. और इसके वजह से वेबसाइट load होने में कम समय लेती है.

आप WP-rocket, Fast velocity minify, CDN (content delivery network) के जरिये कोड minify कर सकते है.

36. LazyLoad Images का इस्तेमाल करे

जिस तरह मैंने आपको Lazy load ads के बारे में बताया ठीक उसी तरह आप Images को भी realtime page स्क्रॉल करते वक्त load कर सकते है.

पेज load होते टाइम images भी लोड होने लगते है और जब तक सारे इमेजेस visible नही होते तब तक पेज रीलोड ही होता रहता है. इस वजह से WordPress वेबसाइट का Load Time बढ़ता है और ट्रैफिक पर इसका सीधा प्रभाव पड़ता है.

Lazy load के लिए आप Smush, WP-Rocket, Jetpack plugin का यूज कर सकते है.

37. Improve First contentful paint

फर्स्ट कंटेंटफुल पेंट (FCP) पेज लोड स्पीड मापने के लिए एक user-centric metric है.

Google के अनुसार, FCP 1 सेकंड के भीतर ही होना चाहिए। यह आपकी साइट के विज़िटर को एक अच्छा यूजर एक्सपीरियंस प्रदान करता है।

यदि आपकी साइट का FCP 3+ सेकंड हैं, तो यह धीमा माना जाता है। शोध के अनुसार, 53% से अधिक मोबाइल यूजर साइट को छोड़ देते हैं अगर इसे लोड करने में 3 सेकंड से ज्यादा समय लगता हैं। इसलिए FCP मेट्रिक को आपको गंभीरता से लेना चाहिए.

FCP कैसे Improve करे-

  • Server Response Time (TTFB) Reduce करे
  • Fast Hosting Provider चुने
  • Use a Quality CDN
  • वेबसाइट में Cache Plugin का यूज करे
  • Files को Minify करे
  • Ads को Homepage से हाईड करे

38. Prefetch DNS Requests

Website speed up करने के कही तरीके है. Fast website, visitors को ब्लॉग की और आकर्षित करता है, यूजर एक्सपीरियंस बढ़ाता है और compression के जरिये content को optimize भी करता है.

Prefetch यूजर को फ्यूचर में लगने वाले resources को silently fetch करके ब्राउज़र को उन्हें एक्सेस करने के लिए allow करता है.

Browser में cache मेमरी स्टोर करने की क्षमता है. जब visitors से request आती है तब ब्राउज़र ज्यादा समय लेने वाले resources को आपके वेबसाइट से fetch ना करके ब्राउज़र पर स्टोर डाटा से उन्हें fetch करता है. इससे पेज तुरंत load होने के सक्षम हो जाता है.

DNS request fetch करने के लिए WP-rocket cache plugin का उपयोग करे.

39. Enable GZIP Compression

GZIP Compression एक most popular compression method है जो web servers and browsers द्वारा content compress or decompress करने के लिए यूज किया जाता है.

आपके वर्डप्रेस साईट को compress करता है और speed को बूस्ट करता है.

GZIP 90% तक JavaScript, CSS और HTML फ़ाइलों के आकार को कम कर सकता है। यह Google द्वारा recommended है इसलिए WordPress SEO के लिए आपको इसका जरुर उपयोग करना चाहिए.

WP Rocket और W3 Total Cache, GZIP compression enable करने की अनुमति देते है.

40. Make your website simple and clean

Visitors gain करने के लिए Simple design सर्च इंजन पर अच्छा परफॉर्म करती है. Clean interface के कारण content readable रहता है और explain की हुई सभी चीजे रीडर्स को समझने में आसानी होती है.

  • Simple design वेबसाइट फ़ास्ट load करती है
  • Readers को नेविगेट करने में दिक्कत नही आती
  • इससे conversion rate improve होता है
  • Simple and clean code issues easily detect होते है और fix करने में भी आसान है.
  • Simple design visitors के trust को बढाता है
  • इस तरह की design ज्यादा प्रोफेशनल लगती है.
  • Google के लिए simple clean डिज़ाइन समझना आसान है

ऊपर दिए सभी पॉइंट्स को ध्यान में रखते हुए आप WordPress साईट को simple ही रखने की कोशिश करे.

41. H1, H2 or H3 tags का सही इस्तेमाल करे

Article मे heading का सही उपयोग करना WordPress SEO के ranking factor मे से एक है.

इसका सही उपयोग आपके साईट के SEO को अच्छा करता है और इससे website कि performance भी boost होती है.

H1 Tag सिर्फ main Title के लिये युज करते है. WordPress पर H1 tag इस्तेमाल करने कि आपको आवश्यकता नही है क्यो कि आपका मुख्य title theme मे automatically set हो जाता है.

बाकी बचे H2 और H3 tag title कि मुख्य heading और sub-heading को दर्शाते है.

Website मे heading tags हमें page की structure समझने में मदद करते हैं। और इससे युजर्स को भी आपका content क्या है? यह समझने मे आसानी होती है.

42. Divide the Article into paragraphs

आप एक story writer नही है. Blogging का मतलब है लोगो को आपके content के जरीये सही दिशा मे ले जाना.

Google भी information को divide करने कि सलाह देता है. एक पैराग्राफ में Minimum 150 words SEO के लिए सही माना जाता है.

First paragraph के 150 शब्दों में keyword का इस्तेमाल करे.

इस चीज को मैंने भी शुरुवात में avoid किया था इसलिए मेरे कही सारे पोस्ट अभी भी ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए लड़ रहे है.

यह आर्टिकल करीब 7000 words का है और यहा आपको कही सारे paragraphs दिखाई देंगे, जो जरूरी है और readers को भी आप quality content को short-short पैराग्राफ्स में समझायेंगे तो उन्हें भी समझने में आसानी होगी.

43. Breadcrumbs enable करे

Breadcrumbs किसी भी वेबसाइट के लिए एक महत्वपूर्ण भाग है. यह visitors को सिर्फ नेविगेट करने के लिए मदद नही करते बल्कि google को भी यह समझने में सहायता करते है की आपकी वेबसाइट कैसे structured है.

यह एक छोटा text path है, जो अक्सर page के ऊपर स्थित होता है. readers को category नेविगेट करने में इसकी मदद मिलती है.

इसके अलावा breadcrumbs google सर्च रिजल्ट पर भी दिखाई देते है, और यदि आप Yoast SEO plugin यूज करते है तो Yoast सिर्फ एक क्लिक पर ही इसे आपके लिए enable कर देता है.

Search result पर breadcrumb google को यह समझने में मदद करता है की आपका ब्लॉग पोस्ट कहा और किस category में पब्लिश किया गया है.

Breadcrumbs activate करने के फायदे-

  • इससे गूगल को आपके वेबसाइट का structured पता चलता है.
  • यह user experiences को बढाता है
  • Breadcrumb बाउंस रेट कम करने में हेल्प करता है

Yoast पर आप इसे SEO > Search Appearance > Breadcrumbs में जाकर enable कर सकते है.

44. Choose the right Web hosting

WordPress Website बनाने से पहले सबकी primary need Hosting service होती है.

यदि आप चाहते हैं कि Google आपको Similar websites के competition में सर्च रिजल्ट पर अपनी साईट दिखाने में मदद करे, तो वेब होस्टिंग एक ऐसी चीज है जिस पर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है।

SEO friendly hosting choose करने के फायदे-

  • एक अच्छा hosting provider वेबसाइट को तेजी से लोड करने के सक्षम बनाता है.
  • 99.9% uptime मिलता है
  • Website security
  • Automatic weekly, monthly backup
  • Provide free SSL (HTTPS)
  • Free CDN setup

इसके अलावा कही सारे premium features आपको मिल सकते है, इसलिए हमेशा सोच समझकर hosting service को चुने.

Discoverinhindi वेबसाइट hostinger.in वेबसाइट पर hosted है.

45. Google Analytics Integrate करे

Google web analytics आपकी वेबसाइट पर जाने के बाद users के अनुभव को समझने में आपकी मदद करता है।

इसकी मदद से आप अपनी वेबसाइट के लिए आवश्यक modification कर सकते हैं ताकि आप अपनी वेबसाइट का रैंक गूगल और अन्य सर्च इंजनों में सुधार सके।

यह न केवल आपके वेबसाइट विज़िटर को ट्रैक करने में मदद करता है, बल्कि एक ही समय में आपको अपनी वेबसाइट से संबंधित अन्य पहलुओं को भी जानने में मदद करता है।

Google analytics आपको वेबसाइट के pages के बारे में उचित जानकारी देता है, आपकी वेबसाइट में व्यक्तिगत समय व्यतीत करता है, और जब कोई व्यक्ति आपकी वेबसाइट को छोड़ देता है तब सारे पेहलू पर गौर करके सही metrics दिखाता है।

यह आपको अपनी वेबसाइट का structure समझने में मदद करता है ताकि गूगल उसके हिसाब से conversion rate तय कर सके.

ये सभी जानकारी आपको अपनी WordPress वेबसाइट को सर्च इंजन के अनुकूल करने में मदद करेगी।

46. Create Longer Content

Short post की तुलना में Longer post अच्छा प्रदर्शन करता है और जल्दी google पर रैंक करता है.

लेकिन इसका मतलब यह नही के आप length बढाने के लिए कुछ भी लिखे, यह SEO में सबसे important टास्क है.

SEO में कम से कम 2000 words का आर्टिकल recommeded होता है, इसलिए length को maintain रखने की कोशिश करे लेकिन साथ में आर्टिकल के quality पर भी ध्यान रखे.

यदि किसी टॉपिक में लिखने के लिए ज्यादा कुछ नही है तो ब्लॉग पोस्ट की length 1000 तक होनी चाहिए.

Bonus Tip- High Quality Backlinks बनाये

Off Page SEO में high quality backlinks बनाना सबसे महत्वपूर्ण है. यह WordPress या किसी भी platform के वेबसाइट के लिए एक सबसे जरूरी ranking factor में से एक है.

किसी भी वेबसाइट के लिए high quality backlink build करना बहोत ही मुश्किल टास्क है. आप सही strategy की मदद से High domain authority साईट पर backlink बना सकते है.

मैंने High DA guest पोस्ट वेबसाइट की एक लिस्ट पब्लिश की है जहापर आप within 1 minute में instant approval ले सकते है. इसमें आपको quality content लिखना ही होगा यह भी जरूरी नही है- 575 High DA Guest Post Sites Accept Dofollow Backlinks | Instant Approval

यह गाइड आपको HQ Powerful Backlinks बनाने में मदद करेगा-

आपने क्या सीखा

इस आर्टिकल में आपने WordPress SEO Tips के बारे में पूरी जानकारी हासिल की है जिन्हे आप अपने साइट को optimize करने के लिए इस्तेमाल कर सकते है.

यह जानकारी शायद ही किसी वेबसाइट पर हिंदी में उपलब्ध होगी इसलिए आर्टिकल में दिए गए स्टेप्स को ध्यान से और पूरी जान लगाकर फॉलो करे. क्यों की आपकी एक गलत स्टेप आपके वेबसाइट के लिए नुकसानदायक हो सकती है.

इस पोस्ट के बारे में मुझे कमेंट में जरूर बताये और यदि आपके पास भी कोई नई आईडिया है जिसे मैंने आर्टिकल में ऐड नहीं किया है तो मुझे जरूर बताये।

यदि आपको WordPress SEO Tips in Hindi आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और अगर आप सोशल मीडिया से जुड़े हुए है तो वहा पर भी लोगो को इसके बारे में बताये जिससे सभी वर्डप्रेस टिप्स से अपने वेबसाइट को नेक्स्ट लेवल पर लेकर जा सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here